This Maulvi Goes to terrorist Saifullah’s father House and Spreads Hate In Their Mind

लखनऊ में एटीएस के साथ एक एनकांउटर में मारे गए आतंकी सैफुल्लाह के पिता सरताज ने शव लेने से मना कर दिया था।

आतंकी सैफुल्लाह के पिता सरताज ने कहा कि देशद्रोही बेटे का शव हम नही लेंगे। सरताज ने कहा कि जो देश हित के खिलाफ काम करता है वो मेरा ही बेटा नहीं है।

इस कदम की जहां एक तरफ जम कर तारीफ हुई वही दूसरी तरफ कुछ इस्लाम धर्म के मौलवियों को ये बात पच नहीं रही की सैफुल्लाह के पिता ने शव लेने से मना क्यू करा क्योकि कही ना कही इस कदम से उनके नापाक एजेंडे को झटका लगा है.

ऐसे ही एक कोशिश मे मौलाना आमिर रशादी कानपुर में सैफुल्लाह के घर पहुंचे और नफरत की सारे हदें पार करदी। उन्होने जो कहा वो ना तो सिर्फ़ यूपी की कानून व्यवस्था पे एक सवाल खड़ा करता है पर कही ना कही मुस्लिम समाज मे पुलिस के प्रती नफरत को बढ़ावा देगा

ज़ी न्यूज़ के रोहित सरदाना ने खुद इस विडियो को ट्विटर पर अपलोड किया और लिखा ‘कानपुर में सैफुल्लाह के घर मौलाना आमिर रशादी पहुंचे। खुद सुनिए मौलाना किन शब्दों में ‘अफ़सोस’ जता रहे हैं।’